ग्रामीण और लघु व्यवसाय योजनाएं –

आज अपने इस लेख के माध्यम से हम आपको बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र  द्वारा आरंभ की गई पशुपालन (अनिमॉल हस्बेंडरी ) योजना के बारे में मुख्य जानकारी जैसे जरूरी दस्तावेज, लाभ, महत्वपूर्ण तिथियां, पंजीकरण प्रक्रिया, उपयोगकर्ता दिशानिर्देश और आधिकारिक वेबसाइट प्रदान करेंगे।

बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र पशुपालन (animal Husbandary )लोन योजना सूची

भारतमे प्रति वर्ष केंद्र सरकार और राज्य सरकार छोटे और ग्रामीण उद्योग को चालना देने के लिए।बहुतसी ग्रामीण कल्याणकारी योजनाए बैंकोंसे कार्यान्वित कराती है। ग्रामीण उद्योग और ग्रामीण किसान सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने के लिए। आज हम इस आर्टिकल में बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र की पशुपालन लोन योजना की के सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे है।

Features Bank of Maharashtra Animal Husbandry Loan Scheme

प्रयोजन :

1. गाय या भैंस जैसे दुधारू पशुओं की खरीद

2. बैल या ऊंट जैसे ड्राफ्ट जानवरों की खरीद।

3. कुक्कुट: ब्रॉयलर, लेयर्स फार्म, हैचरी, फीड माइल्ड

4. भेड़ या बकरी : पालन

5. बायरे का निर्माण, उपकरण या मशीनरी की खरीद।

6. कार्यशील पूंजी की आवश्यकता।

पात्रता :

1. सभी किसान, व्यक्ति, संयुक्त जमींदार।

2. काश्तकार किसान, बटाईदार, मौखिक पट्टेदार।

3.एस एच जी या किसानों के जेएलजी

(जिनके पास आवश्यक विशेषज्ञता है)

उधार (Loan ) की राशि :

1. पशु : नाबार्ड इकाई लागत के अनुसार

2. अन्य : परियोजना लागत या अनुमान या मूल्य कोटेशन के अनुसार।

अनुदान (मार्जिन ऑफ़ लोन) :

1.1.60 लाख रुपये तक की सीमा = शून्य

2.सीमा 1.60 लाख से ऊपर -15% से 25%

(उद्देश्य और वित्त की मात्रा के आधार पर)

ब्याज की दर :

1.10 लाख तक : 1 वर्ष एमसीएलआर + बीएसएस @ 0.50% + 2.00%

2. 10 लाख रुपये से ऊपर: 1 साल एमसीएलआर + बीएसएस @ 0.50% + 3.00%

सुरक्षा :

1.60 लाख रुपये तक : खरीदे जाने वाले पशु/पौधे और मशीनरी का दृष्टिबंधक।

2. रु. 1.60 लाख से अधिक :

ए) खरीदे जाने वाले जानवरों / पौधे और मशीनरी का हाइपोथिकेशन।

बी) तीसरे पक्ष की गारंटी (दो) भूमि का गिरवी रखना।

ऋण चुकौती अनुसूची : (Loan Repayment Shedule) :

उपयुक्त मासिक या त्रैमासिक या अर्धवार्षिक किश्तों के साथ 3 से 7 वर्षों के भीतर।

अन्य नियम और शर्तें:

पशुओं/पक्षियों और उपकरणों/मशीनरी की खरीद का बीमा अनिवार्य।

दस्तावेजों की आवश्यकता :

1. बैंक ऑफ बड़ौदा ऋण आवेदन पत्र संख्या 138 और संलग्नक – बी 2 फॉर्म।

2.सभी 7/12 भूमि मालिक दस्तावेज, आवेदक के 6 डी अर्क, चाटु सिमा।

3. पैक्स सहित आसपास के वित्तीय संस्थानों से आवेदक का अदेय प्रमाण पत्र।

4. 1.60 लाख रुपये से अधिक के लोन के लिए बैंकों के पैनल में अधिवक्ता से कानूनी तलाशी जहां जमीन गिरवी रखी जानी है।

5. ऋण के उद्देश्य के आधार पर मूल्य कोटेशन, अनुमानित योजना, अनुमति आदि।

6.गारंटी फॉर्म f -138

गारंटर के सभी 7/12, 8A और PACS बकाया प्रमाणपत्र।

Leave a Reply

Your email address will not be published.